Home » Uncategorized » पाकिस्तानी मीडियामध्ये छाया जनरल का क्रेश:पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट्सने तयार हादसे खबर, सीडीएसचा टॉप रावत मोदी सरकारच्या जवळ

पाकिस्तानी मीडियामध्ये छाया जनरल का क्रेश:पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट्सने तयार हादसे खबर, सीडीएसचा टॉप रावत मोदी सरकारच्या जवळ

चीफ ऑफ डिफेंस (CDS) जनरल बिपिन रावत का MI-17 हेलिकॉप्टर बुधवार को तमिलनाडु में कुन्नूर जिले के जंगल में क्रैश झाला. इस एक्सीडेंटवर पाकिस्तान की मीडिया भी पैनी नजर ठेवत आहे. अगदी तमाम वेबसाइट्सवर ही बातमी टॉप न्यूज बनली आहे. या बद्दल अपडेट्स दिले आहेत. हेलिकॉप्टर में क्रैश ही आग लागली होती।दावा- पीएम मोदी के…

पाकिस्तानी मीडियामध्ये छाया जनरल का क्रेश:पाकिस्तानी न्यूज वेबसाइट्सने तयार हादसे खबर, सीडीएसचा टॉप रावत मोदी सरकारच्या जवळ
चीफ ऑफ डिफेंस (CDS) जनरल बिपिन रावत का MI-17 हेलिकॉप्टर बुधवार को तमिलनाडु में कुन्नूर जिले के जंगल में क्रैश झाला. इस एक्सीडेंटवर पाकिस्तान की मीडिया भी पैनी नजर ठेवत आहे. अगदी तमाम वेबसाइट्सवर ही बातमी टॉप न्यूज बनली आहे. या बद्दल अपडेट्स दिले आहेत. हेलिकॉप्टर में क्रैश ही आग लागली होती।

दावा- पीएम मोदी के जवळ, म्हणून बिना नंबर के सेना प्रमुख
तकरीबन सर्व पाकिस्तानी अखबारों मध्ये हादसे की कवरेज के साथ ही जनरल रावत का प्रोफाइल देखील आहे. त्यांना मोदी नरेंद्र मोदी का जवळ गेले आहे. सोबत ही एक प्रमुख भूमिकाही दिली आहे की पंतप्रधान नरेंद्र मोदी यांच्या जवळची गोष्ट आहे कारण ही जनरल रावत सेना प्रमुख पद से रिटायरमेंट के दिन ही देशाचा प्रथम सीडीएस बनने का मौका मिलनेचा दावा आहे.

पाकिस्तानी अबारों ने ही बात को भी प्रमुख प्रमुखाने लिहिले आहे कि जनरल रावत को मोदी से पासी के कारण ही 2015 मध्ये बिना नंबर के सेना प्रमुख बनने का अवसर मिला. ‘डान’ अखबार ने आपल्या खबरात असा दावा केला आहे की जनरल रावते त्याच जवळी के कारण दोन्‍पटू के ज्‍याने ज्‍यादा वरिष्ठ बनले होते त्‍याने तरीही आपसात सेना प्रमुख बनवले.

हादसे में १३ लोक की मौत की पुष्टि हो गई है।

सभी अखबारों ने कश्मीर आणि चीन सीमा पारदर्शी का जिक्र
पाकिस्तानी अखबारों ने जनरल रावत के कश्मीर आणि चीन सीमा से लोकसभा अनुभव का भी जिक्र. सर्वांनी लिहिले आहे की जनरल रावत यांनी आपल्या 40 वर्ष से अधिक करियर मध्ये लंबा समय कश्मीर मध्ये सैन्य अभियानाचे नेतृत्व आणि चीन सीमा वर भारतीय सेना अगुआई करण्यासाठी बिताया आहे

हादसे की स्थळ काही लोक बुरी तरह घायल हालत में मिले।

किस अखबार ने हादसे वर काय लिहिले
‘डान’ अखबार ने भारतीय वायुसेना के ऑफिशियल टि्वटवर संदेश आणि भारतीय न्यूज एजेन्सींची तरफ से दी जा रही माहिती वरून एक्सीडेंट की खबर को कवर केली आहे. अखबारच्या रिपोर्टमध्ये विस्तार से एक्सीडेंट का ब्योरा झाला. सोबत ही MI-17 हेलिकॉप्टरही हालत होते. रावत के एक्सीडेंट को टॉप न्यूज के तौर पर तवज्जो दी गई। भारतीय मीडियामध्ये आ रही जानकारांवर आधारित रिपोर्टमध्ये हादसे की विस्तार से माहिती दी गई।

बचाव कर्मियों को जंगल के कठिन हालात मध्ये खूप उचलनी.

‘डेली पाकिस्तान’ अखबार ने भारतीय मीडियाने जारी केलेले व्हिडिओ फुटेज का वापरताहेत हादसेला कवर केले गेले आहे. अखबार ने यह भी हैकि जनरल रावत की मौत कोळना तक कोई पास पुख्ता माहिती नाही

उर्दू अखबार। ‘जंग’ ने हादसे में 11 लोक की मौत की खबर भारतीय मीडिया के हवाले से दी है. साथ ही गोष्टही प्रमुखता द्वारे गेली कि हादसे मध्ये सर्व शव बुरी प्रमाणे जलतरण कि उनकी पहचान करना भी मुश्किल है। एक अन्य अखबार ‘एक्सप्रेस’ ने भी इस खबर को उर्दू जनरल रावतचा फोटो सोबत प्रमुखता से कवर केला आहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *